Wednesday, December 7, 2022
Home Blog

How to Mobile Phone data recover in hindi ?

0

Mobile Phone का Data (Deleted Data) Recover कैसे करें हिंदी में

Mobile Data Collection Software के बारे में, हम आज आपको बताने वाले हैं कि मोबाइल डिलीट डाटा रिकवर कैसे करें.

Android Phone data recovery kaise kren:- दोस्तों अगर आपके मोबाइल फोन का कोई जरूरी डाटा डिलीट हो गया है और आप गूगल पर सर्च कर रहे थे कि इसे कैसे रिकवर करें तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं इस पोस्ट में आपको आपके सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे जैसे – कैसे वापस पाएं मोबाइल का डिलीट किया हुआ डाटा लाओ

Mobile Phone Ka Data Recover Kaise Kare In Hindi

हमें लगता है कि आपका मोबाइल डेटा गलती से हटा दिया गया है या किसी अन्य कारण से आपके मोबाइल में रखा गया महत्वपूर्ण डेटा या फ़ाइल हटा दिया गया है।
आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है, आप सोच रहे होंगे कि यह फ़ाइल या डेटा कभी वापस नहीं किया जा सकता है, लेकिन आपका ऐसा सोचना गलत है।

आज के डिजिटल युग में हर समस्या का समाधान है। आज हम सॉफ्टवेयर की मदद से किसी भी मोबाइल फोन का डिलीट हुआ डाटा रिकवर कर सकते हैं। डेटा रिकवरी सॉफ़्टवेयर।

Android Mobile Phone में Lost Data को कैसे Recover करें हिंदी में

इस आर्टिकल में आपको एक बहुत ही आसान तरीका बताने जा रहे हैं जिसकी मदद से आप अपने मोबाइल फोन से डिलीट हुई फाइल्स और डेटा को रिकवर कर सकते हैं।

आपने देखा या सुना होगा कि आप कंप्यूटर की हार्ड डिस्क से डेटा रिकवर कर सकते हैं, उसी तरह हम अपने मोबाइल में रखे जरूरी डेटा या फाइल, फोटो, वीडियो, ऑडियो को रिकवर करते हैं।

पोस्ट में बताए गए तरीकों का सही तरीके से इस्तेमाल करें क्योंकि अगर आप अपने मोबाइल डेटा को रिकवर करने में जरा सी भी गलती करते हैं तो आपका डेटा हमेशा के लिए डिलीट हो जाएगा।

इसलिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें और ध्यान से डाटा रिकवर करें।

एंड्राइड मोबाइल फोन का डिलीट डाटा रिकवरी कैसे करें हिंदी में

यदि आप चाहते हैं कि आपके Mobile यानी Android Smartphone के Delete Data को Recover करना है तो आपको –
कंप्यूटर या लैपटॉप में मोबाइल डेटा को रिकवर करने वाले ऐप्स को इंस्टॉल करना होता है, जो आपके एंड्राइड मोबाइल फोन में डिलीट हुए डेटा को रिकवर करने में आपकी मदद कर सकता है।

Mobile Data Recover करने सही का तरीका – step by step

मोबाइल डेटा Recover के लिए आपको एक सॉफ्टवेयर जिसका नाम Easeus Mobi Saver को अपने कम्प्यूटर में Install करे।
आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आपको इस सॉफ्टवेयर का फ्री वर्जन इस्तेमाल करना है, आप चाहें तो पेड वर्जन ले सकते हैं, लेकिन यह आपको काफी महंगा पड़ सकता है।

इस सॉफ्टवेयर को लैपटॉप में इंस्टॉल करने के बाद आपको अपने मोबाइल फोन को यूएसबी केबल की मदद से कनेक्ट करना होगा। इसके बाद आपको मोबाइल फोन की पूरी जानकारी यानी अनुमति कंप्यूटर को देनी होगी।

इसके लिए आपको MOBILE PHONE की सेटिंग में जाकर अबाउट फोन को ओपन करना है, यहां आपको डेवलपर मोड को इनेबल करना है।
Developer Mode को चालू करने के लिए आपको Build Number पर कम से कम 7 बार क्लिक करना होगा जिससे आपका Developer दिखाई देगा।

अब आपको Setting में Develeper Mode को Find करना है, अगर आपको इस Option को खोजने में परेशानी हो रही है, तो आप Setting में दिए गए Search Box की मदद से भी इस Option को ढूंढ सकते हैं।
Developer Option में जाने के बाद आपको Dibbing के Option को On करना है।
आपका मोबाइल कंप्यूटर से कनेक्ट होने के बाद Easeus Mobi Saver आपको कुछ Permission या Message देगा आपको इसे Ok करना है।
आपका मोबाइल फ़ोन कंप्यूटर सॉफ़्टवेयर से कनेक्ट होने के बाद, यह आपको दिखाएगा कि आप कौन सा डेटा पुनर्प्राप्त करना चाहते हैं। यहां आप जो भी डॉक्यूमेंट सेलेक्ट करेंगे, वह रिकवर होना शुरू हो जाएगा।

अगर आपका डाटा रिकवर होता दिख रहा है तो आप समझ सकते हैं कि वह कितना खुश है, अब इस प्रोसेस में ज्यादा समय लगेगा, यह आपके मोबाइल में डिलीट हुए डाटा के साइज पर निर्भर करेगा, क्योंकि यह फाइल के साइज पर निर्भर करता है।

How to Recover Android Mobile Data in Hindi

दोस्तों हमने आपको Android Mobile Data Recovery के बारे में पूरी जानकारी दी है, आप इस जानकारी को ठीक से समझ लें और डाटा को रिकवर कर लें। और आप इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि आपके दोस्त या रिश्तेदार भी इस पोस्ट का लाभ उठा सकें।

“Android Phone data recovery kaise kren”

आप हमें सोशल मीडिया पर फॉलो जरूर करें, मिलते हैं अगली रोचक जानकारी के साथ, तब तक आप Rostr.in को पढ़ते रहे।

Read more: 

एसक्युएल (SQL) क्या है इसके प्रकार सहित (What is SQL in Hindi)

Play Store में App कैसे बनाए और Publish कैसे करें 2022

एसक्युएल (SQL) क्या है इसके प्रकार सहित (What is SQL in Hindi)

0

Table of Contents

एसक्युएल (SQL) क्या है इसके प्रकार सहित (What is SQL in Hindi)

आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको SQL क्या है इसके बारे में पूरी जानकारी देंगे। इस लेख में, आप एसक्यूएल क्या है, एसक्यूएल का पूरा नाम क्या है, एसक्यूएल के प्रकार (टाइप ऑफ़ SQL), एसक्यूएल की विशेषताएं, एसक्यूएल कमांड (सकल commond), एसक्यूएल के उपयोग (USE of SQL ) और एसक्यूएल के फायदे (Benefit of SQL) और नुकसान के बारे में जानेंगे। “What is SQL in hindi”

आप हर दिन इंटरनेट पर कई वेबसाइट देखते होंगे और कई एप्लिकेशन का उपयोग करते हुए, इनमें से कई एप्लिकेशन में आपने अपना खाता बनाया होगा। ये सभी विवरण एप्लिकेशन या वेबसाइट के डेटाबेस में संग्रहीत होते हैं, ये डेटाबेस SQL द्वारा ही संचालित होते हैं।

What is SQL?

वैसे तो कंप्यूटर में डेटाबेस को मैनेज करने के लिए कई तरह की भाषाएं होती हैं, लेकिन इन सबके बीच सबसे लोकप्रिय भाषा SQL है।
यदि आप डेटाबेस के बारे में नहीं जानते हैं, तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब एक सर्वर में बड़ी मात्रा में डेटा संग्रहीत और रखा जाता है, तो उसे डेटाबेस कहा जाता है।

अपना अधिक समय न लेते हुए, हमारे विषय पर वापस आएं और इस लेख को हिंदी में SQL क्या है शुरू करें।

SQL जिसका Full Form (पूरा नाम) Structured Query Language है, एक प्रकार की कंप्यूटर भाषा है जिसके द्वारा रिलेशन डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (Relation Database Management System) (RDBMS) में डेटा को मैनेज किया जाता है। डेटाबेस को SQL की मदद से एक्सेस और मैनिपुलेट (Access और Manipulate) किया जा सकता है।

SQL एक मानक भाषा है, जिसमें डेटाबेस में डेटा को प्रबंधित करने के लिए इन्सर्ट, डिलीट, अपडेट जैसे कमांड दिए जाते हैं।
RDMS में, डेटा को कई पंक्तियों और स्तंभों के रूप में संग्रहीत किया जाता है, SQL का उपयोग डेटा को अच्छी तरह से संरचित तरीके से संग्रहीत करने के लिए किया जाता है।

SQL का पूरा नाम (SQL Full Form in Hindi)

एसक्यूएल का Full Form (पूरा नाम) “Structured Query Language” है.
SQL का इतिहास (History of SQL in Hindi)
SQL की शुरुवात 1970 के दशक में हुई थी जिसे IBM के कर्मचारी Donald D Chamberlin और Raymond F Boyce ने IBM के रिलेशन डेटाबेस System R में स्टोर डेटा को मैनेज करने के लिए बनाया था.
शुरुवात में इस Language को SEQUEL नाम दिया गया था लेकिन UK में स्थित हाकर सिड्ली नामक एक विमान कंपनी का ट्रेडमार्क SEQUEL था इसी कारण से बाद में इस Language का नाम बदलकर SQL रख दिया गया.
1978 में IBM ने भी SQL से सम्बंधित व्यवसायिक उत्पाद बनाना शुरू किया. RDMS को Relation Software Inc द्वारा 1986 के आसपास लॉन्च किया गया था, बाद में इस कंपनी का नाम बदलकर Oracle कर दिया गया।
आज के समय में कोई भी कंपनी जो Database Software बनाती है वो अपनी खुद की SQL भाषा का इस्तेमाल करती है, जैसे –
Microsoft की SQL भाषा है – Microsoft SQL सर्वर
Oracle की SQL भाषा – Oracle RDBMS
Open Source Platform की SQL Language है – MySQL

एसक्यूएल की विशेषताएं

एसक्यूएल की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं –

डेटाबेस को SQL की सहायता से प्राप्त किया जा सकता है।
RDBMS में डेटा डालने और नियंत्रित करने के लिए SQL का उपयोग किया जाता है।
SQL की मदद से डाटा डाला जाता है, डिलीट किया जाता है, मैनिपुलेट किया जाता है।
एसक्यूएल की मदद से आप डेटाबेस में एक नया टेबल बना सकते हैं।
SQL डेटा क्वेरी लैंग्वेज अन्य क्वेरी लैंग्वेज की तुलना में सरल और आसान है।

SQL क्या होता है हिंदी में

एसक्यूएल के कुछ प्रमुख कमांड
SQL के कुछ प्रमुख कमांड इस प्रकार हैं –

CREATE – डेटाबेस में एक नया ऑब्जेक्ट बनाने के लिए।
ALTER – डेटाबेस में ऑब्जेक्ट को संशोधित करने के लिए।
DROP – किसी वस्तु को हटाने के लिए।
SELECT – इस कमांड का प्रयोग एक या एक से अधिक टेबल से डेटा देखने के लिए किया जाता है।
INSERT – इस कमांड का प्रयोग एक नया रिकॉर्ड बनाने के लिए किया जाता है।
अद्यतन – रिकॉर्ड संशोधित किया गया है।
DELETE – डेटाबेस से डेटा हटाता है।
GRANT – इस कमांड का प्रयोग यूजर को परमिशन देने के लिए किया जाता है।
REVOKE – अनुमति को रद्द करने के लिए इस कमांड का उपयोग करें।

SQL स्टेटमेंट के प्रकार

SQL में कमांड देने के लिए कुछ विशेष प्रकार के कीवर्ड का उपयोग किया जाता है, जिन्हें SQL स्टेटमेंट कहा जाता है। SQL स्टेटमेंट मुख्य रूप से पांच प्रकार के होते हैं।

1 – डेटा परिभाषा भाषा (DDL)

डीडीएल कमांड का उपयोग करके, आप डेटा में एक टेबल बना या हटा सकते हैं, एक पंक्ति या कॉलम तालिका में बनाया, हटाया या बदला जा सकता है।
DDL कमांड के उदाहरण हैं – CREATE, ALTER, DROP TABLE आदि।

2 – डेटा हेरफेर भाषा (डीएमएल)

DML कमांड का उपयोग करके केवल डेटा को संशोधित किया जा सकता है। डीएमएल कमांड की मदद से डेटा को जोड़ा, हटाया और संशोधित किया जा सकता है।
DML कमांड के उदाहरण INSERT, UPDATE, DELETE हैं।

3 – डेटा नियंत्रण भाषा (डीसीएल)

DCL कमांड का उपयोग डेटा को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है।
DCL कमांड के उदाहरण हैं – GRANT, REVOKE

4 – डीक्यूएल (डेटा क्वेरी लैंग्वेज)

DQL कमांड की मदद से डाटा में से किसी भी डाटा को सेलेक्ट किया जाता है।
केवल एक DQL कमांड है जो सेलेक्ट है।

5 – टीसीएल (लेनदेन नियंत्रण भाषा)

DML के साथ TCL कमांड का उपयोग किया जाता है। इस कमांड की मदद से डाटा में बदलाव को मैनेज किया जाता है।
कुछ महत्वपूर्ण TCL कमांड हैं- सेव पॉइंट, कमिट

एसक्यूएल का उपयोग

SQL Language का प्रयोग निम्न कार्यों के लिए किया जाता है –

SQL की मदद से एक नया डेटाबेस बनाया जा सकता है।
डेटाबेस में नया डेटा सम्मिलित कर सकते हैं।
डेटा में हेरफेर किया जा सकता है।
डेटा को डेटाबेस से निकाला जा सकता है।
डेटाबेस में एक नई तालिका बनाएँ।
डेटाबेस में रिकॉर्ड्स को हटाया जा सकता है।
इसी तरह Database Management System के सारे काम SQL की मदद से किये जा सकते है.

एसक्यूएल (SQL) के फायदे

SQL के कई फायदे हैं जो इसे लोकप्रिय बनाते हैं। SQL डेटाबेस संचार के लिए एक विश्वसनीय और कुशल भाषा है, SQL के कुछ फायदे इस प्रकार हैं –
SQL में बड़ी मात्रा में डेटा को जल्दी और कुशलता से पुनर्प्राप्त किया जा सकता है। इन्सर्ट, डिलीट या मैनिपुलेट डेटा जैसे ऑपरेशन कुछ ही समय में किए जा सकते हैं।
उपयोगकर्ता को डेटा को पुनः प्राप्त करने के लिए बड़ी संख्या में कोड लिखने की आवश्यकता नहीं होती है, बुनियादी कमांड जैसे SELECT, DELETE, INSERT आदि की मदद से उपयोगकर्ता डेटा को आसानी से प्रबंधित कर सकता है।
SQL कई तरह के Database Management System को सपोर्ट करता है जैसे – MySQL, Oracle, MS Access इत्यादि.

SQL सीखने और समझने में आसान भाषा है।

एसक्यूएल का नुकसान

एक तरफ SQL के बहुत सारे फायदे हैं तो दूसरी तरफ इसके कुछ नुकसान भी हैं जैसे –

  • SQL का इंटरफ़ेस जटिल है, जिसके कारण उपयोगकर्ता को इसका उपयोग करने में कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है।
  • SQL के कुछ संस्करण महंगे होते हैं जिसके कारण अधिक उपयोगकर्ता इसका उपयोग नहीं करते हैं।

SQL और MySQL के बीच अंतर (हिंदी में SQL बनाम MySQL)

SQL और MySQL के बीच अंतर निम्नलिखित हैं –

  • SQL एक कंप्यूटर भाषा है जबकि MySQL एक डेटाबेस प्रबंधन प्रणाली है जिसमें SQL कमांड का उपयोग किया जाता है।
  • SQL एक क्वेरी लैंग्वेज है जिसकी मदद से आप डेटाबेस को एक्सेस कर सकते हैं जबकि MySQL ओपन सोर्स डेटाबेस है।
  • डेटाबेस को SQL की मदद से बनाया जाता है जबकि MySQL में SQL क्वेरी की मदद से आप डेटा को इन्सर्ट, डिलीट और मैनिपुलेट कर सकते हैं।

एसक्यूएल (SQL) कैसे सीखें

  • अन्य कंप्यूटर भाषाओं की तरह ही SQL सीखने के लिए संसाधन हैं।
  • आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से SQL सीख सकते हैं।
  • लेकिन आजकल ऑनलाइन क्लासेज काफी एडवांस हो गई हैं,
  • यहां आप बहुत सी चीजें फ्री में सीख सकते हैं।
  • अगर आप SQL ऑफलाइन सीखना चाहते हैं तो आप कोचिंग संस्थान से जुड़ सकते हैं या फिर आप SQL से संबंधित किताबें खरीद कर SQL का अभ्यास कर सकते हैं।
  • हमने नीचे कुछ विश्वसनीय वेबसाइटों के बारे में सुझाव दिया है कि आप मुफ्त में एसक्यूएल ऑनलाइन सीख सकते हैं,
  • जहां आप मुफ्त में एसक्यूएल कोडिंग भाषा सीख सकते हैं।

एसक्यूएल के लिए अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

क्या SQL एक प्रोग्रामिंग भाषा है?

SQL एक सामान्य प्रयोजन प्रोग्रामिंग भाषा नहीं है।

इसका उपयोग RDBMS में डेटा को मैनेज करने के लिए किया जाता है।

केवल SQL का उपयोग करके किसी भी तरह से एप्लिकेशन नहीं बनाया जा सकता है।

एसक्यूएल का फुल फॉर्म क्या है?

SQL का पूरा नाम स्ट्रक्चर्ड क्वेरी लैंग्वेज है।

आरडीबीएमएस का फुल फॉर्म क्या है?

RDBMS का पूरा नाम रिलेशन डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम है।

SQL का उपयोग क्यों किया जाता है?

SQL का उपयोग डेटाबेस के साथ संचार करने के लिए किया जाता है।

ANSI (अमेरिकन नेशनल स्टैंडर्ड इंस्टीट्यूट) के अनुसार, SQL RDBMS के लिए एक मानक भाषा है।

निष्कर्ष: SQL क्या है हिंदी में

तो दोस्तों SQL क्या है के इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको “What is SQL in hindi” SQL Language के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है, जिसकी मदद से आप अपनी SQL सीखने की यात्रा शुरू कर सकते हैं।

हमारी हमेशा से यही कोशिश रहती है कि हमारे ब्लॉग पर आने वाले सभी यूजर्स को उनके सवालों का संतोषजनक जवाब मिल सके और यूजर को उसी सवाल का जवाब खोजने के लिए दूसरे ब्लॉग पर जाने की जरूरत नहीं है.
आशा है कि आपको हमारे द्वारा SQL पर हिंदी में लिखा गया यह लेख पसंद आया होगा, इस लेख को हिंदी में SQL क्या है अपने उन दोस्तों के साथ साझा करें जो प्रोग्रामिंग में रुचि रखते हैं। “What is SQL in hindi”

 

Read more:- 

Play Store में App कैसे बनाए और Publish कैसे करें 2022

Top 5 Best Budget Gaming Laptop Under ₹50000 In 2022

Ratan Tata net worth: जानिये कितनी है रतन टाटा की कुल संपत्ति

0

Ratan Tata net worth: जानिये कितनी है रतन टाटा की कुल संपत्ति

Tata net worth| रतन टाटा biography in hindi | family|  कार | व्यवसाय | interesting facts about Ratan Tata

Ratan Tata net worth कितनी है?:- भारत के सबसे प्रसिद्ध और सम्मनित उद्योगपतियों में से एक Ratan Tata, टाटा संस और टाटा समूह के अध्यक्ष हैं। वे 73 वर्ष की आयु में देश के सबसे बड़ें समूह में से एक का नेतृत्व करते हैं। जिसमें लगभग 67 बिलियन अमरीकी डॅालर के राजस्व के साथ लगभग 100 फर्म शामिल हैं। आज की पोस्ट में हम Ratan Tata net worth कितनी है? उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियों को साझा करेंगे। Ratan Tata net worth कितनी है?, उनके परिवार में कौन-कौन है, उनके व्यवसाय और उनकी उपलब्धियों को जानने के लिए लेख को पूरा पढ़ें।

Ratan Tata total net worth

टाटा संस प्रमुख ऑपरेटिंग समूह टाटा कंपनियों के प्रमोटर हैं और इन कंपनियों में महत्वपूर्ण शेयरधारिता रखते हैं। टाटा संस की इक्विटी पूंजी का लगभग 66 प्रतिशत टाटा परिवार के सदस्यों द्वारा संपन्न परोपकारी ट्रस्टों के पास है। इनमें से सबसे बड़े ट्रस्ट सर दोराबजी टाटा ट्रस्ट और सर रतन टाटा ट्रस्ट हैं। टाटा समूह में छह महाद्वीपों में फैली 100 से अधिक ऑपरेटिंग कंपनियां शामिल हैं।

रतन टाटा का नाम दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में आता है।श्री रतन टाटा की कुल संपत्ति की बात करें तो इसमें काफी विविधता है। इसमे विभिन्न स़्त्रोतों से बड़ी मात्रा में धन शामिल है। श्री रतन टाटा की कुल संपत्ति 1 बिलियन अमरीकी डॅालर आंकी गई है, जो भारतीय मुद्रा में लगभग 7940 करोड़ (यानी लगभग सात हजार नौ सौ चालीस करोड़ INR) है।

Total assets of Ratan Tata

House: श्री रतन टाटा मुंबई में अपने लक्जरी होम में रहते हैं जिसे उन्होंने साल 2015 में खरीदा था। इनके इस आलीशान घर की कीमत लगभग 150 करोड़ रुपये है। पूरे भारत में उनकी कई संपत्तियां हैं।

Cars: मिस्टर टाटा का कार कलेक्शन काफी बड़ा है। उनके पास दुनिया की कुछ बेहतरीन लग्जरी कारें हैं। श्री रतन टाटा के स्वामित्व वाले कार ब्रांडों में मर्सिडीज बेंज, फेरारी, होंडा सिविक, रेंज रोवर, टाटा, मासेराती क्वाट्रोपोर्टे, कैडिलैक एक्सएलआर, क्रिसलर सेब्रिंग, जगुआर और ब्यूक सुपर 8 शामिल हैं।

Average Income/Investment

Estimated net worth Rs. 7940 cr. INR
औसत वार्षिक आय 820 करोड़ रुपये
व्यक्तिगत निवेश 5248 करोड़ रुपये
लग्जरी कारें 19 करोड़ रुपये

Biography of Ratan Tata in Brief

रतन टाटा का जन्म 28 दिसंबर, 1937 को मुंबई में सबसे अमीर परिवारों में से एक में हुआ था। उनके परदादा टाटा समूह के संस्थापक जमशेदजी टाटा थे। 10 वर्ष की आयु में उनके माता-पिता अलग हो गए। टाटा का बचपन अशांत था। उनके लालन-पालन उनकी दादी लेडी नवाजबाई ने किया। अमेरिका में टाटा वंशज के प्रति विशेष आकर्षण था और वह वास्तुकला और संरचनात्मक इंजीनियरिंग का अध्ययन करने के लिए कॉर्नेल विश्वविद्यालय गए। बाद में उन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से मैनेजमेंट का कोर्स किया।

1962 में, वह tata group में शामिल हो गए और जमशेदपुर में टाटा स्टील डिवीजन में काम करने लगे यह उनकी पहली नौकरी थी। जहां उन्होंने ब्लू-कॉलर कर्मचारियों के साथ पत्थर फावड़ा और भट्टियों के साथ काम किया। उन्हें 1971 में नेशनल रेडियो एंड इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी लिमिटेड (Nelco) का प्रभारी निदेशक नियुक्त किया गया और वे नेल्को को बदलने में सफल रहे। इसके बाद वे टाटा इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष हुए। उन्होंने अपनी मेहनत से कई बदलाव किये और एक के बाद सफलता हांसिल की। उनके नेतृत्व में ही टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज सार्वजनिक हुई और टाटा मोटर्स को न्यूयाॅर्क स्टॅाक एक्सचेंज में लिस्ट किया गया।

Launch Of India’s First car

उनके कार्यकाल के दौरान कंपनी ने भारत की पहली सही मायने में भारतीय कार, ‘इंडिका’ का शुभारंभ देखा। कार टाटा के दिमाग की उपज थी। 2000 में टाटा के फूड डिवीजन ने 70 मिलियन जीबीपी में चाय फर्म टेटली का अधिग्रहण किया। वर्ष 2009-10 में समूह के राजस्व में लगभग 12 गुना वृद्धि हुई है, जो कुल 67.4 बिलियन अमरीकी डालर है। टाटा फिएट एसपीए और एल्कोआ के बोर्ड में भी काम करता है और मित्सुबिशी कॉरपोरेशन, अमेरिकन इंटरनेशनल ग्रुप, जेपी मॉर्गन चेज़, रोल्स रॉयस, टेमासेक होल्डिंग्स और सिंगापुर के मौद्रिक प्राधिकरण के अंतरराष्ट्रीय सलाहकार बोर्डों में भी है।

Ratan Tata achievements

वर्ष 2000 में, Ratan Tata को भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। उन्हें ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी द्वारा व्यवसाय प्रशासन में मानद डॉक्टरेट, एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बैंकॉक द्वारा प्रौद्योगिकी में मानद डॉक्टरेट और वारविक विश्वविद्यालय द्वारा विज्ञान में मानद डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया था। टाटा के पास GBP 300 मिलियन का व्यक्तिगत भाग्य है और विशाल समूह के 1% से भी कम का मालिक है। टाटा समूह के दो तिहाई से अधिक का स्वामित्व धर्मार्थ ट्रस्टों के पास है जो अच्छे कार्यों को वित्तपोषित करते हैं।

List of Companies of Ratan Tata

  1. Tata Consultancy Services
  2. टाटा Motors Tata Steel
  3. Tata Chemicals
  4. टाटा Consumer Products
  5. Titan
  6. Tata Capital
  7. Tata Power
  8. Indian Hotels
  9. टाटा Communications
  10. Tata Digital and
  11. टाटा Electronics.

Know more about Ratan Tata

  • रतन टाटा अविवाहित हैं। उन्होंने यह स्वीकार किया है कि चार बार शादी के करीब आने के बाद विभिन्न कारणों से उनका विवाह नहीं हो सका।
  • रतन टाटा ने आईबीएम के नौकरी के अवसर को ठुकरा दिया। इसके बदले उन्होंने टाटा स्टील में शामिल होना पसंद किया।
  • 1991 में टाटा समूह के अध्यक्ष बनने के बाद, उन्होंने समूह को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया और टाटा समूह को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाई। यह सब उनके व्यावहारिक व्यावसायिक कौशल के कारण संभव हुआ।
  • उनके सक्षम नेतृत्व में, टाटा समूह के राजस्व में 40 गुना से अधिक की वृद्धि हुई। मुनाफा 50 गुना से अधिक बढ़ गया। 1991 में केवल 5.7 बिलियन डॉलर बनाने वाली कंपनी ने 2016 में लगभग 103 बिलियन डॉलर कमाए।

Ratan Tata total net worth ke baare me jane aur bhi bahut kuchh .

  • 2009 में, उन्होंने टाटा नैनो कार की कल्पना की, जो भारत में 1 लाख रुपये की सबसे सस्ती कार थी। उन्होंने अपना वादा निभाया।
  • रतन टाटा को फ्लाइट और फ्लाइंग बहुत पसंद है। वह एक कुशल पायलट हैं। रतन टाटा 2007 में एफ-16 फाल्कन पायलट करने वाले पहले भारतीय थे।
  • रतन टाटा बहुत परोपकारी व्यक्ति हैं। इतनी बड़ी संपत्ति के मालिक होने के बाद भी उनका नाम सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में शामिल नहीं हैं। क्योंकि उनकी आय का बहुत बड़ा हिस्सा चैरिटी और कंपनी के स्टाफ के परिवार के हित में जाता है।
  • रतन टाटा और उनका परिवार कंपनी की स्थापना के समय से ही परोपकारी कार्यों में लगा हुआ है। स्वास्थ्य सुविधाओं, शिक्षा प्रणाली में सुधार आदि के माध्यम से भारत के विकास में उनका बहुत योगदान है।
  • रतन टाटा की सभी कंपनी अपने कर्मचारियों का खास ख्याल रखती हैं। उन्होंने पूरे भारत में सभी कर्मचारियों के लाभ के लिए एक आधुनिक पेंशन प्रणाली, मातृत्व अवकाश, चिकित्सा सुविधाएं और बहुत कुछ शुरू किया।
  • 26/11 के हमलों के बाद, रतन टाटा ने उस समय के दौरान अपने कर्मचारियों की देखभाल की, जब होटल यह सुनिश्चित कर रहा था कि कर्मचारियों को इस दौरान उनकी तनख्वाह मिले। उन्होंने रेलवे, पुलिस स्टेशनों, बाजार विक्रेताओं और यहां तक ​​कि पैदल चलने वालों के कर्मचारियों को भी मुआवजा दिया।
  • हाल ही में, मुंबई के उद्योगपति रतन टाटा ने 4 जनवरी, 2021 को एक बीमार पूर्व कर्मचारी से मिलने के लिए पुणे की यात्रा की। उनकी यात्रा के तुरंत बाद, 83 वर्षीय कर्मचारी के साथ बातचीत करते हुए उनकी एक तस्वीर वायरल होने के बाद, पूरे इंटरनेट पर ट्रेंड किया गया। .
Ratan Tata net worth overview
नाम रतन टाटा
नेट वर्थ (2022) $1 बिलियन
नेट वर्थ भारतीय रुपये में 7940 करोड़ INR
व्यवसाय Business man
मासिक आय और वेतन 90 cr+
वार्षिक आय 820 cr+
निष्कर्श

रतन टाटा भले ही सबसे अमीर आदमी न हों लेकिन वह निश्चित रूप से सबसे महान व्यक्ति और दिलों के विजेता हैं। उन्होंने साबित कर दिया कि फोर्ब्स की सूची में होने से कोई व्यक्ति अमीर नहीं बन जाता है, लेकिन कर्म जरूर करते हैं।आज की पोस्ट में हमने आपको Ratan Tata net worth क्या है?, इसके बारे में आपको बताया है। हमारी पोस्ट आपको कैसी लगी नीचे दिये कमेंट बॅाक्स में हमें लिखें। अन्य किसी भी जानकारी के लिए हमसे संपर्क करें।

धन्यवाद

Read more:-

 मेरा मोबाइल कौन सा है? | Google Mera Mobile Kaun Sa Hai

PUBG Mobile Lite Download New Update 2022 Apk | PUBG Lite Download

ये है पुरुषों की दाईं आंख फड़कने (Right Eye Blinking in male) की कुछ ज्योतिष और वैज्ञानिक वजह

0

ये है पुरुषों की दाईं आंख फड़कने (Right Eye Blinking in male) की कुछ ज्योतिष और वैज्ञानिक वजह

Right Eye Blinking in male : ऐसा कहा जाता है कि जब कुछ अच्छा या बुरा होने वाला होता है, तो हमें उसके संकेत पहले ही मिल जाते हैं। लेकिन हम उन्हें समझ नहीं पाते हैं। इन संकेतों में से एक को मायोकिमिया (Myokymia) या आंख फड़कना के रूप में वर्णित किया गया है। ऐसा कभी-कभी होता है जब हमारी आंखें झपकती हैं और मन में कई विचार आते हैं कि इसका संकेत क्या है। कुछ अच्छा या बुरा होने वाला है।

ज्योतिष को मानने वाले इस मामले को गंभीरता से लेते हैं। कुछ लोग इसे नजरअंदाज कर देते हैं। तो आज हम बताएंगे कि ज्योतिष में दाहिनी आंख फड़कने (Right Eye blinking) के बारे में क्या कहा गया है।

Importance of Right Eye Blinking in male In Astrology

  1. सबसे पहले आपको बता दें कि आंखों का झपकना (Eye Blinking) महिलाओं के लिए शुभ या अशुभ संकेत होता है और पुरुष अलग-अलग होते हैं। आज हम आपको पुरुषों की दाहिनी आंख फड़कने के बारे में बताएंगे।
  2. ज्योतिष में पुरुष की दाहिनी आंख का फड़कना (Right Eye Blinking in male) शुभ बताया गया है। लेकिन इसमें भी दो अलग-अलग मान्यताएं हैं।
  3. यदि पुरुषों की दाहिनी आंख में ऊपरी पलक फड़कती है तो इसे शुभ माना जाता है और निचली पलक फड़कने पर अशुभ मानी जाती है।
  4. वहीं अगर दाहिनी आंख के नीचे पलक फड़क रही हो तो यह आपके शत्रु से शत्रुता बढ़ने का संकेत माना जाता है।
  5. अब यदि पुरुषों की दाहिनी आंख का कोना फड़कता है तो यह शुभ माना जाता है।
  6. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ये पुरुष की दाहिनी आंख फड़कने के संकेत हो सकते हैं।
  7. अगर आंखें चारों तरफ से फड़कती हैं तो यह खराब स्वास्थ्य का संकेत माना जाता है।

A. एक इच्छा पूरी होने वाली है
B. कोई खो जाने वाला है
C. धन लाभ हो सकता है
D. पदोन्नत किया जा सकता है

आंख फड़कने (Eye Blinking) का वैज्ञानिक कारण

आंखों के फड़कने के कुछ ख़ास बात जो प्रमुख है और ये कारण जो वैज्ञानिक बताते हैं, वह है मांसपेशियों की थकान। आजकल हर इंसान अपने अपने काम में बहुत ही ज्यादा व्यस्त होता है। ऐसे में हम लोग अपने शरीर पर थोड़ा सा भी ध्यान नहीं दे पा रहे होते हैं। ऐसे में हम अगर 7 से 8 घंटे की नींद भी नहीं ले प् रहे होते हैं जिससे मांसपेशियों में थकान होने लगती है और आंखें फड़कने लगती हैं।

Scientific Significance Of Eye Blinking

वैसे तो दुनिया में कई तरह की मान्यताएं हैं जिनसे लोग यह साबित करने की कोशिश करते हैं कि इसी वजह से आंखों की पलकें झपकती हैं। लेकिन सारी बातों को समझने के बाद जो बातें चिकोटी का कारण बनकर सामने आती हैं, वे इस प्रकार हैं-

1. नींद पूरी ना होना
2. थकान
3. तनाव में होना
4. ज्यादा मात्रा में कैफीन लेना
5. कंप्यूटर या मोबाइल पर देर तक काम करना
6. किसी चीज को बिना पलक झपकाए देर तक देखना
7. ज्यादा या कम लाइट में काम करना

आंख फड़कना रोकने ( How to stop eye blinking) के उपाय

आँख फड़कना (Eye Blinking) कोई नयी बात नहीं है लेकिन इनमे से कुछ शुभ होगा या अशुभ हो सकता है क्युकी यह बाद में पता चलता है। लेकिन जब ऐसा हो रहा होता है तो हम बहुत ही ज्यादा कन्फ्यूज होने लगते हैं और कभी-कभी इतना ज्यादा गुस्सा आता है की कुछ समझ नहीं आता है। ऐसे में आप कुछ घरेलू तरीके अपनाकर आप आंख फड़कने के इस समस्या से बच सकते हैं।
आंख फड़कने (Eye Blinking) के कई वजह होता है इनमे से कुछ शुभ होता कुछ अशुभ यह तो बाद में पता चलेगा है। लेकिन जिस समय यह आप के sath हो रहा होता है उस समय हमें काफी उलझन होने लगती है और कभी-कभी काफी आपको गुस्सा भी आने लगता है। ऐसे में आंख फड़कने से रोकने के लिए कुछ घरेलू उपाय हैं जिनको आप अपना सकते हैं।

  1. इसके लिए आप अपने आंखों को जल्दी जल्दी खोलें और बंद करें
  2. और फिर अपनी उंगली से आंखों की गोलाई में 1 मिनट तक मसाज करें
  3. उसके बाद आंखों को कुछ देर के लिए आप बंद कर ले और फिर से उसे खोलें ऐसा 4 से 5 बार लगातार करें
  4. और फिर पानी से 3 से 4 बार अपने मुंह को धुलें
  5. इसके साथ ही आप अपने आँख को फड़कने से रोकने का सबसे अच्छा तरीका यह है की आप अपनी नींद पूरी करें।

Read more

महिलाओं की बायीं आँख फड़कना (left eye twitching for female) की वैज्ञानिक व ज्योतिष वजह

चाँद धरती से कितना दूर है | Chand Dharti Se Kitna Door Hai?

सबसे पास की किराना दुकान कब तक खुली रहेगी?

मेरा मोबाइल कौन सा है? | Google Mera Mobile Kaun Sa Hai

0

मेरा मोबाइल कौन सा है? | Google Mera Mobile Kaun Sa Hai

क्या आप लोग भी मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं और आप लोग नहीं जानते कि मेरा मोबाइल कौन सा है (Mera Mobile Kaun Sa Hai) और आप लोग जानना चाहते हैं कि मेरा मोबाइल कौन सा है तो आप इस ब्लॉग (Article) को पूरा पढ़ें ताकि आप लोग आसानी से जान सकें कि मेरा मोबाइल कौन सा है ? आइए जानते हैं….

मेरा मोबाइल कौन सा है कैसे जानें

आमतौर पर ज्यादातर लोग अपने मोबाइल का नाम तो जानते हैं जैंसे की कंपनी नाम जानते हैं बस। लेकिन जब बात मोबाइल के मॉडल की आती है तो आपको इसका नाम नहीं पता होता है। जब भी कोई व्यक्ति हमारे फोन के बारे में हमसे पूछता है तो हमें अपने मोबाइल की पूरी जानकारी के नहीं पता होती है तो उस वक्त हमे इस बारे में सोचना पड़ता है कि मेरा मोबाइल कौन सा है?

मेरे मोबाइल का मॉडल नंबर या नाम क्या है? मेरे मोबाइल का प्रोसेसर क्या है? प्रोसेसर में कितने कोर होते हैं? मेरे मोबाइल का कैमरा कितने मेगापिक्सल का है? ऐसे में हमें इन सब के बारे जनन्ना बहुत जरूरी हो जाता है तो ऐसे में आप अगर अपने मोबाईल (Phone) की सारी जानकारी प्राप्त करने के लिए आसान तरीका हमने आपको नीचे विस्तार से बताने जा रहा हूँ।

1: सबसे पहले तो आपको ये जानने से पहले अपने मोबाइल की Setting में जाना होगा।

2: इसके बाद आपको अपने फ़ोन की सेटिंग में About phone के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

3: जैसे ही आप क्लिक करते हैं तो वहां पर हमे काफी जानकरी देखने को मिल जाती है जैंसे की डिवाइस का नाम, मॉडल Ram , स्टोरेज इत्यादि।

4: कुछ फोन में तो हमें About phone में सभी Specification (निर्देश) का विकल्प मिलता है।

जहां पर हमें क्लिक करने पर अपने मोबाइल के और स्पेसिफिकेशन देखने को मिलेंगे जैसे Processor, Camera, Processor Core, RAM, Android Version, Kernel Version आदि।

5: इसके साथ ही हम अपने मोबाइल का सर्टिफिकेशन भी देख सकते हैं कि यह मोबाइल वही है

जो हमें मोबाइल बॉक्स पर मिला है, इसमें हम IP Address और IMEI नंबर का पता लगा पाएंगे।

जब आप IMEI नंबर जान सकते हैं, तो आप सिम के बारे में भी जान पाएंगे।

निष्कर्ष

मुझे आशा है कि आप लोग अब मेरा मोबाइल कौन सा है? (Google Mera Mobile Kaun Sa Hai) से जुड़ी सारी जानकारी पता चल गई होगी। आप लोगों को यह लेख कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं। साथ ही इस article को दूसरों के साथ Share जरूर करें, ताकि सभी को इसके बारे में पता चल सके। आपको धन्यवाद!

 

गूगल (Google) क्या है? | गूगल का मालिक कौन है?

Top 5 Best Budget Gaming Laptop Under ₹50000 In 2022

गूगल (Google) क्या है? | गूगल का मालिक कौन है?

0

गूगल (Google) क्या है? | गूगल का मालिक कौन है?

दोस्तों आपने गूगल (Google kya hai) का नाम तो सुना ही होगा। आज से 20-25 साल पहले देखा जाए तो अगर हमें कोई जानकारी चाहिए होती तो वह किताबों में मिल जाती थी जो बहुत मुश्किल काम था। लेकिन अब ऐसा नहीं है, जब भी हमें कोई जानकारी चाहिए होती है तो हम Google पर सर्च करते हैं और हमें तुरंत सारी जानकारी मिल जाती है।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि Google क्या है? Google का मालिक कौन है, Google को कब और क्यों बनाया गया था? दोस्तों मेरा नाम Shashikant Tiwari है। आज के इस आर्टिकल में मैं आपको Google से संबंधित सभी जानकारी दूंगा। इस लेख को ध्यान से पढ़ेंगे। मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को मेरा यह लेख पसंद आएगा तो चलिए शुरू करते हैं।

गूगल क्या है? (What is Google in Hindi) Google kya hai

(Google kya hai ):- गूगल एक American Multinational कंपनी है। Google Company कैलिफ़ोर्निया में स्थित है। जिसने Internet सर्च, Cloud कंप्यूटिंग, और विज्ञापन तकनीकी में पुंजी लगायी है। गूगल दुनिया का सबसे बड़ा Search इंजन है। Search Engine के साथ साथ इसके कई Business हैं। जैसे – Internet Analytics, Cloud Computing, Advertisement आदि। इसमें आप कोई भी information Search करेंगे तो आपको उससे Related जानकारी जरूर मिल जाएगी।

गूगल का इतिहास (History of Google in Hindi)

वैसे, आज के समय में Google एक अरबो-खरबों की कंपनी है, जिसने ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में अपनी जगह बनाई है। आइए जानते हैं गूगल का इतिहास (History of Google in Hindi) के बारे में।

1996 में, जब सर्गेई ब्रिन (Sergey Brin) और लैरी पेज (Larry Page) अपनी पीएचडी कर रहे थे, तो उन्होंने शोध परियोजना में पीएचडी के लिए कुछ अलग करने का फैसला किया। और उन्होंने सोचा कि “अगर हम वेबसाइट को अन्य वेबसाइटों के साथ तुलना करके रैंक करते हैं, तो यह बहुत अच्छा होगा, पर उस समय उनकी रैंकिंग का तरीका यह था, जितनी बार सर्च किया गया शब्द उस वेबपेज में होगा, वह उसी के अनुसार रैंक करेगा और यह कल्पना आज Google का रूप है। शुरुआत में, उन्होंने इसका नाम “BACKRUB” रखा।

  • 1997 में दोनों ने सर्च इंजन का नाम “Google” रखा जो कि “Googol” है, वास्तव में यह एक गणितीय शब्द है और यह एक अजीब सच्चाई है कि गूगल ने इस गूगोल को गलत बना दिया। Googol का मतलब 100 जीरो के पीछे 1 होता है।

Google

  • Google का पहला डूडल होमपेज 1998 में ही बनाया गया था, लेकिन अब Google पूरी दुनिया में 2000 से अधिक डूडल होम पेजों को बदल देता है और वर्तमान में डूडल की एक टीम है।
  • AdWords की शुरुआत वर्ष 2000 में हुई थी और अब Google दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन विज्ञापन सेवा प्रदाता है, जिसने बड़े व्यवसाय को सफल बना दिया है। टेक्स्ट विज्ञापनों, वीडियो विज्ञापनों और मोबाइल विज्ञापनों की सेवा प्रदान करता है और बदले में पैसे वसूल करता है।
  • 2004 April Fool के ही दिन इस कंपनी ने Gmail को लॉन्च किया था, साथ ही Gmail डेटा को स्टोर करने के लिए ये कंपनी काफी स्टोरेज देती है और आज के समय में ये और भी ज्यादा दे रही है।
  • 2004-05 में गूगल ने मैप मेकर कीहोल को खरीदा और आज इस मैप कंपनी को गूगल मैप के नाम से जाना जाता है, जो अर्थ ऐप के जरिए रूट, नई लोकेशन की जानकारी और 360 डिग्री व्यू दिखा सकती है।
  • 2006 में, इस कंपनी ने एक बहुत ही खास Video Sharing Website Youtube को खरीदा। फिलहाल हर मिनट 60 घंटे के वीडियो अपलोड किए जा रहे हैं।
  • Android 2007 खरीदा और यह वर्तमान में मोबाइल उपकरणों के लिए सबसे अच्छा ऑपरेटिंग सिस्टम है।
  • 2008 में ये अपना ब्राउज़र क्रोम (Chrome Browser) को बाजार में लाये, और ये काफी ज्यादा पसंद भी किया गया है आधिकारिक तौर पर (Chrome Browser) 2 सितंबर 2008 को लॉन्च किया गया था, यह दुनिया के सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला ब्राउज़र में से एक है।
  • 2011 में लैरी पेज के गूगल के नए सीईओ बनने से पहले एरिक श्मिड वहां मौजूद थे।
  • Google+ प्रोजेक्ट 2011 में ही शुरू हुआ था, इसमें फेसबुक, ट्विटर जैसे रियल लाइफ शेयरिंग फीचर था।
  • Do You Know (Google kya hai )
  • Android 4.1 jelly bean का अपडेट 2012 में आया था, जिसके बाद ये अपना Google nexus 7 Tablet को लॉन्च किया गया था।
  • Google Now और Google Voice Search फीचर को 9 जुलाई 2012 को पेश किया गया था, अब यह Google Assistant बन गया है।
  • Google Glass Market में 2013 में आया था। जिसमें आप अपने मोबाइल को Glass के माध्यम से चला सकते हैं।
  • VR HEADSET की शुरुआत 2015 में हुई थी, अब यह काफी पॉपुलर हो गया है।
  • 2016 में, Google लून प्रोजेक्ट शुरू हुआ, जहां इंटरनेट पहुंच गया, जहां वह नहीं पहुंचा, और उसी वर्ष Google का पहला मोबाइल फोन, पिक्सेल लॉन्च किया गया।
  • गूगल होम की शुरुआत भी 2016 में हुई थी, जिसके जरिए आप घर में सभी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस चला सकते हैं, साथ ही कुछ सवालों के जवाब भी जान सकते हैं।
  • Google.ai को 2017 में Google के Google i/o पर लॉन्च किया गया था जहां आपको AI टूल्स मिलेंगे और इसके साथ ही Google Lens भी शुरू हो गया है, जिसके जरिए आप अपनी कोई भी फोटो खींच सकते हैं।
  • तो ये था Google का अब तक का इतिहास, तो Google आगे बढ़ता रहेगा, देखते हैं कुछ नया आता है या नहीं।

गूगल का पूरा नाम क्या है? (Google Full Form in Hindi)

Google का Full Form – GLOBAL ORGNIZATION OF ORIENTED GROUP OF LANGUAGE OF EARTH है।

गूगल का सीईओ कौन है? (CEO of Google)

गूगल के CEO सुन्दर पिचाई (Sundar Pichai) जी हैं जो की एक भारतीय नागरिक हैं। यह हमारे लिए ख़ुशी की बात है कि हमारे देश भारत का व्यक्ति Internet की सबसे बड़ी Company गूगल का CEO हैं। Sundar Pichai एक IIT College के Student थे। इनकी Annual Income 1200 से 1300 करोड़ रुपये है। आपको वेबसाइट या ब्लॉग पर जो भी ads देखने को मिलतें हैं उनमें से लगभग 70% ads गूगल द्वारा तैयार किये जातें हैं। आइये थोड़ा इसके बारे में भी जान लेंते हैं।

गूगल की कमाई कितनी है? (Google income in Hindi)

गूगल Company की Income सुनकर आप चौंक जायेंगे। गूगल एक दिन में लगभग $1 Billion US Doller से अधिक कमाती है। इसको यदि Indian Rupee में देखा जाये तो 6,85,22,50,000 रूपया के बराबर होगा।

Google के कमाई का सबसे अच्छा जरिया कौन सा है और Google की Income कहाँ से होती है?

यदि देखा जाये तो Google हमें बहुत सारी Services Free Of Cost प्रदान करता है। जैसे– Gmail, Video Search, Youtube, Google Search इत्यादि। अब सवाल ये उठता है कि यह इतनी सारी चीजें फ्री में दे देते हैं, फिर भी इसकी इतनी कमाई कैसे हो रही है।

गूगल के Earning के बात करें तो यह अपनी कमाई Advertisement से करता है। जी हाँ दोस्तों आपने सही पढ़ा इसकी कमाई Advertisement से होती है। गूगल ने भी अपने एक Report में दर्शाया है कि इसकी Income लगभग 96% Advertisement से होती है।

Adwords/Google Ads

Google Ads Google की एक ऑनलाइन विज्ञापन सेवा है जहां विज्ञापनदाता (Advertiser) पैसे देते हैं और यह विज्ञापन के माध्यम से विज्ञापनदाता (Advertiser) के व्यवसाय को सही लोगों तक पहुंचता है।
Google Adsense
गूगल AdSense गूगल का ही एक Product है जो किसी Website या Blog पर ऑटोमेटिक Text, Image, Video के रूप में दिखता है। इसमें Google AdSense पर click से जीतनी भी Earning होती है Earning का 55% राशि गूगल रखता है और 45% राशी Publisher को देता है।

Google का मालिक कौन है?

गूगल के मालिक बात करे तो इसके मालिक सर्गेई ब्रिन (Sergey Brin) और लैरी पेज (Larry Page) हैं। ये दोनों Sandford University, California के छात्र थे। सन् 1995 में ये दोनों वहीँ पर मिले थे।

FAQs

1. गूगल का मालिक कौन है?

उत्तर- गूगल के मालिक कक नाम सर्गेई ब्रिन (Sergey Brin) और लैरी पेज (Larry Page) है। क्या आप ये पहले जानते थे अगर है तो कमेंट के माध्यम से आप हमे जरूर बातये।

2. गूगल किस देश की कंपनी है?

उत्तर- गूगल एक American Multinational कंपनी है। Google Company कैलिफ़ोर्निया में स्थित है।

3. गूगल का हेडक्वार्टर कहाँ है?

उत्तर- इसका हेडक्वार्टर माउंटेन व्यू, कैलिफ़ोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका में है।

4. गूगल का सीईओ कौन है?

उत्तर- Google के CEO का नाम सुन्दर पिचाई (Sundar Pichai) हैं और ये भारत के एक नागरिक हैं।

5. गूगल का फुल फॉर्म क्या है?

उत्तर- Google का Full Form – GLOBAL ORGNIZATION OF ORIENTED GROUP OF LANGUAGE OF EARTH है।

मैं उम्मीद करता हूँ कि अब आप लोगों को गूगल क्या है? (Google kya hai ) | और गूगल का मालिक कौन है? से जुड़ी सभी जानकरियों के बारें में भी पता चल गया होगा। यह लेख आप लोगों को कैसा लगा हमें कमेंट्स बॉक्स में कमेंट्स लिखकर जरूर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के जरूर share करें जो लोग गूगल (Google) के बारे में जानना चाहतें हैं, ताकि सबको इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद!

Read more:-

Hello Google aap Kaise Ho – हैलो गूगल कैसे हो?

Top 5 Best Budget Gaming Laptop Under ₹50000 In 2022

Top 5 Best Budget Gaming Laptop Under ₹50000 In 2022

0

दोस्तों, क्या आप ऑफिस या गेमिंग के लिए एक अच्छे और “Best Gaming Laptop” की तलाश कर रहे हैं?

अगर हां, तो आप बिल्कुल सही वेबसाइट पर आए हैं। क्योंकि इस आर्टिकल में हमने आपके साथ पांच लैपटॉप की जानकारी दी है और पांचो लैपटॉप अपने आप में बढ़िया हैं।

Best Gaming Laptop Under 50000

अगर आप गेमिंग लैपटॉप खरीदना चाहते हैं और आपका बजट केवल 50000 रुपये है, तो मैं इसके लिए माफी माँगना चाहूँगा क्योंकि 50,000 रुपये में कोई गेमिंग लैपटॉप उपलब्ध नहीं है।

लेकिन आज के इस आर्टिकल में हमने पांच ऐसे बेहतरीन गेमिंग लैपटॉप के बारे में बताया हैं जो आपको “Best Gaming Laptop” सिर्फ 50000 में मिल जायेंगे

रुपये के रेंज में मिल जाएंगे। आप इनमें से एक या दो लैपटॉप 50,000 रुपये में खरीद सकते हैं।

लेकिन बाकी लैपटॉप के लिए आपको बजट थोड़ा बढ़ाना होगा। बता दें कि अगर आप ₹50,000 में एक लैपटॉप लेते हैं, जिसमें आपको एक i5 11th Generation का प्रोसेसर (Processor ) मिलता है, लेकिन एक बढ़िया (Dedicated) GPU नहीं मिलता है, तो आप इसमें वैसे भी गेमिंग नहीं कर पाएंगे।

इसलिए बेहतर होगा कि आप अपने बजट में 2000-3,000 रुपये बढ़ा दें और एक अच्छे Dedicated GPU वाला लैपटॉप खरीदें।

List Of Best Gaming Laptop Under 50000

  1. Asus Tuf Gaming F15
  2. Acer Aspire 7
  3. Asus Tuf Gaming A15
  4. Lenovo Ideapad Gaming 3
  5. MSI GF 63 Thin 

 

1:- Asus Tuf Gaming F15

 

Processor

Asus Tuf Gaming F15 दोस्तों यह लैपटॉप i5 10th generation processor इसमें उपलब्ध है, जो कि 10300 EDGE वेरिएंट का है। “Best Gaming Laptop”

Display

आपको 15.6 इंच का फुल एचडी डिस्प्ले मिलेगा, लेकिन “Best Gaming Laptop” इसमें आपको 144HZ का रिफ्रेश रेट मिलता है। और ये एक अच्छी बात है। इसके अलावा इसमें 250 निट्स की ब्राइटनेस है और साथ ही इसमें 62.5% sRGB मिलता है।

Ram & Storage 

इसमें आपको 8 जीबी रैम मिलेगी। एक 512 जीबी एसएसडी (512 GB SSD) है जिसमें 4GB of VRAM है आपको जो ग्राफिक्स कार्ड मिलता है वह Nvidia’s G4 GTX1650 का है।

  • Key Specifications
  • अब अगर इस लैपटॉप के बनावट की बात करें तो यह लैपटॉप इस बजट में आने वाले सभी लैपटॉप से बेहतर है।
  • लेकिन इसमें कुछ हीटिंग की दिक्कत हैं। इसलिए आपको कूलिंग पैड का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। अगर आप इससे गेमिंग या वीडियो एडिटिंग जैसे टास्क करते हैं। तो इस कीमत में यह लैपटॉप काफी बेहतर है।
  • आपको numric keys के साथ backlit full size keyboard मिलता है जिसमे RGB कीबोर्ड के साथ भी आता है। आप इसके कीबोर्ड पर एक बार में एक colour सेट कर सकते हैं।
  • दूसरे लैपटॉप के मुकाबले आपको बेहतर कूलिंग के लिए नीचे और पीछे की तरफ कुछ अतिरिक्त Air space मिलते हैं। रियर में वेंट्स थोड़े कम हैं। 
  • बाकी USB Port की बात करें तो इसमें आपको तीन यूएसबी पोर्ट (USB Port) मिलते हैं जिनमें से दो यूएसबी पोर्ट 3.2 Versoin के हैं। एक आपको टाइप सी पोर्ट मिलता है, आप इसे डिस्प्ले पोर्ट के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। एक एचडीएमआई पोर्ट होगा या एक ऑडियो पोर्ट प्राप्त करें। साथ ही आप इसे अपग्रेड भी कर सकते हैं।
  • आपको दो SSD स्लॉट मिलते हैं और HDD के लिए एक स्लॉट भी मिलता है और आप इसमें दो RAM भी लगा सकते हैं। तो यह भी पूरी तरह से अपग्रेड करने योग्य लैपटॉप है।

Price

कीमत की बात करें तो यह आपको फ्लिपकार्ट पर 47,890 रुपये में और अमेजन पर इक्यावन हजार रुपये में मिल जाता है। इसलिए मैं आपको सलाह दूंगा कि आप इसे फ्लिपकार्ट से खरीदें। SBI क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके आप इसे ₹ 1,500 की छूट में खरीद सकते हैं यानी इस लैपटॉप की कीमत आपको लगभग इक्यावन हजार रुपये होगी जो कि काफी बेहतर डील होगी। एक सामान्य लैपटॉप के बजाय, आप एक बेहतर GPU के साथ एक लैपटॉप खरीद सकते हैं और वह भी इतनी कम कीमत पर।

2:- Acer Aspire 7 

अब दोस्तों हम दूसरे नंबर के लैपटॉप पर आते हैं, जो कि Acer Aspire 7 है।

Processor 

यह लैपटॉप Ryzen 5 5500U प्रोसेसर के साथ आता है। जो इस प्राइस रेंज के लिए फिर से काफी अच्छा प्रोसेसर है। 

Display 

आपको वही 15.6 इंच का फुल एचडी डिस्प्ले मिलेगा। जो कि LED बैकलिट और IPS डिस्प्ले है, लेकिन यहां आपको 60HZ की डिस्प्ले मिलती है। जोकि एक basic display होगा।

Ram, Storage Or Graphic Card 

इस लैपटॉप में आपको 8 जीबी रैम और 512 जीबी एसएसडी मिलता है, वही जीटीएक्स 1650 ग्राफिक्स कार्ड 4 जीबी VRAM के साथ मिलता है।

Key Specifications 

इसमें आपको बैकलिट एलईडी वाला कीबोर्ड मिलता है। इसमें RGB कीबोर्ड नहीं है। यह लैपटॉप आपको गेमिंग फील नहीं देगा। तो अगर कोई ऐसा लैपटॉप लेना चाहतें है जिसमे आपको RGB लाइट आदि पसंद नहीं है।

अगर आपको लैपटॉप में गेमिंग लुक की जरूरत नहीं है तो यह लैपटॉप ऑफिस टाइप का होना चाहिए। जैसे अगर आप वीडियो एडिटिंग आदि करना चाहते हैं तो आप इसे भी देख सकते हैं।

इसमें आपको दो 3.2 पोर्ट मिलते हैं! एक टाइप सी पोर्ट उपलब्ध है। आपको एक एचडीएमआई पोर्ट और एक यूएसबी 2.0 पोर्ट मिलता है! बाकी सब कुछ ऑडियो जैक आदि के साथ उपलब्ध है।

Price 

इस लैपटॉप की कीमत फ्लिपकार्ट पर 49,890 रुपये है और यह लैपटॉप अमेज़न पर उपलब्ध नहीं है। डिस्काउंट के बाद यह लैपटॉप आपको करीब 50000 में “Best Gaming Laptop” मिल जाएगा।

 

3:- Asus Tuf A15

अब दोस्तों हम तीसरे नंबर पर आते हैं जो कि Asus Tuf Gaming A15 है। दोस्तों मैंने आपको पहले जो लैपटॉप बताया था वह 2021 का मॉडल है और यह 2022 का मॉडल है, जो मैं आपको अभी बता रहा हूं वह थोड़ा महंगा है।

Display 

इसमें भी वही 15.6 इंच का डिस्प्ले और 144 HZ का रिफ्रेश रेट के साथ में मिलता है।

Processor

इस लैपटॉप में Ryzen 5 4600 H प्रोसेसर (processor ) है जो 6 cores and 12 threads वाला प्रोसेसर है।

Ram, Storage Or Graphic Card

यहां आपको वही 8 जीबी रैम मिलती है और आप इसे 32 जीबी तक अपग्रेड कर सकते हैं। इस स्टोरेज में आपको 512 GB (पांच सौ बारह जीबी) का NVME SSD मिलता है। वही ग्राफिक कार्ड 4GB VRAM के साथ GTX 1650 है।

Key Specifications 

आपको कीबोर्ड में One Zone RGB light मिलता है जो कि पहले वाले में भी है। जिसे आप अपने हिसाब से अलग-अलग रंगों में बदल सकते हैं।

इस लैपटॉप में पोर्ट भी समान रूप से उपलब्ध हैं।

तो अब वही बात आती है कि जब सब कुछ एक जैसा है तो यह लैपटॉप क्यों लें?

जैसे कि यह लैपटॉप आपको कम पैसे में मिल रहा है तो आप इसके लिए ज्यादा पैसे क्यों देंगे? तो इसका जवाब है कि यह लैपटॉप 2022 का वेरियंट है।

इसलिए Asus ने 2022 वेरिएंट में काफी बदलाव किए हैं। जैसे इसकी बिल्ड क्वालिटी, फीचर्स और टर्बो फीचर इसमें मौजूद हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कि यह डील तुलना में बेकार है।

जैसे अगर आपके पास केवल 50 से 51 हजार रुपये का बजट है तो आप Asus Tuf F15 ले सकते हैं।

इसमें इतने भी बड़े बदलाव नहीं हैं कि आपको तीन हजार रुपये अतिरिक्त चुकाने पड़ें और लेकिन आपको लेटेस्ट चीज चाहिए तो आप ASUS A15 “Best Gaming Laptop” लेना चाहिए। 

Price

कीमत की बात करें तो यह लैपटॉप Amazon पर 51,990 रुपये में उपलब्ध है।

Battlegrounds Mobile India Download कैसे करें, जानें तरीका

4:- Lenovo Ideapad Gaming 3 

अब हम चौथे नंबर पर आते हैं जो Lenovo Ideapad Gaming 3 है।

Processor 

दोस्तों Lenovo के इस लैपटॉप में आपको वही i5 10300H 10th जेनरेशन का प्रोसेसर मिलता है जो आपको ASUS में मिलता है।

Display

इसमें आपको 120HZ के रिफ्रेश रेट के साथ 15.6 इंच का फुल एचडी डिस्प्ले मिलेगा।

Ram, Storage Or Graphic Card

यहां आपको 8 जीबी रैम मिलती है। 512 जीबी का एसएसडी है। जोकि 4GB GTX 1650 ग्राफिक कार्ड के साथ है। 

Key Specifications

तो क्या अलग है? यहां बहुत सी चीजें अलग हैं। सबसे पहले आपको कीबोर्ड में एक बैकलिट एलईडी (Backlit LED) मिलती है, जो नीले रंग की होती है। इसका लुक परफेक्ट मीडियम कैटेगरी का लुक है।

जहां बिल्ड क्वालिटी आपको थोड़ी बेहतर बनाती है, वहां आपको Enhancements मिलते हैं और दूसरी चीज है कूलिंग, कूलिंग जो आपको टॉप लेवल पर मिलती है।

यहाँ पीछे के वेंट पूरी तरह से खुले हैं! कूलिंग के मामले में यह लैपटॉप काफी बेहतर है।

तो अगर आपके घर में या जिस भी इलाके में आपने थोड़ी ज्यादा गर्मी जमा की है अगर आपके घर में एसी नहीं है तो ये चीजें आपकी काफी मदद करेंगी। लैपटॉप काफी गर्म होता है।

पोर्ट्स की बात करें तो आपको 3.2 के दो यूएसबी पोर्ट मिलते हैं। एक यूएसबी 3.2 टाइप सी पोर्ट उपलब्ध है और एक एचडीएमआई 2.0 पोर्ट उपलब्ध है। अन्य सभी सामान्य पोर्ट उपलब्ध हैं।

यदि आप एक लैपटॉप का उपयोग करते हैं, तो परिभाषा के अनुसार आपको एक यूएसबी हब का उपयोग करना होगा और यदि आप अपने लैपटॉप से ​​कई चीजों को जोड़ना चाहते हैं।

यहां आपको एक और अच्छी चीज मिलती है और वह है इसकी बैटरी लाइफ। बैटरी लाइफ लगभग साढ़े सात घंटे होने का दावा किया गया है। लेकिन आप इसे गेमिंग में 2 से 3 घंटे तक आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसमें आपको फास्ट चार्जिंग का सपोर्ट मिलता है। यह लैपटॉप एक घंटे में लगभग 80% चार्ज हो जाता है! लेकिन आसुस और अन्य ब्रांड के लैपटॉप हैं, उन्हें चार्ज होने में थोड़ा समय लगता है।

Price

कीमत की बात करें तो यह लैपटॉप आपको अभी अमेज़न पर 56,799 रुपये में “Best Gaming Laptop” मिल सकता है।

 

5:- MSI GF 63 Thin

अब पांचवें नंबर पर आता है लैपटॉप जो MSI Gaming GF 63 Thin है।

Processor

दोस्तों अगर आप i5 11th जेनरेशन का लैपटॉप लेना चाहते हैं। क्योंकि i5 10th जनरेशन और Ryzen 5 4600 H दोनों ही प्रोसेसर थोड़े पुराने हैं। लेकिन यहां i5 11th जनरेशन उनके मुकाबले थोड़ा नया है, यहां मैं i5 11400H की बात कर रहा हूं। इसकी तकनीकी 6 cores and 12 threads हैं।

Display

यह लैपटॉप 15.6 इंच के फुल एचडी डिस्प्ले और 144Hz रिफ्रेश रेट के साथ आता है।

Ram, Storage Or Graphic Card

इसमें 8 GB RAAM और 512 GB NVME SSD है। इसमें भी आपको GTX 1650 4GB VRAM जैसा ही ग्राफिक्स कार्ड मिलता है, लेकिन यहां आपको Max Q Edition मिलता है। जो सामान्य GTX 1650 से थोड़ा बेहतर है।

Key Specifications

इस लैपटॉप का वजन बाकी लैपटॉप के मुकाबले काफी कम है। इसमें जो की-बोर्ड है वह फुल साइज कीबोर्ड नहीं है। लाल बैकलिट एलईडी के साथ आता है।

पोर्ट की बात करें तो आपको लगभग सभी और कुछ ही अतिरिक्त मिलते हैं। इसमें दो यूएसबी 3.2 पोर्ट, एक टाइप सी पोर्ट और दो ऑडियो जैक पोर्ट हैं।

इनमें से हेडफोन में एक अलग पोर्ट और माइक का एक अलग पोर्ट है। यह MSI के बारे में बहुत अच्छी बात है।

जैसे आप एक Productive लैपटॉप चाहते हैं जिसमें आप अलग-अलग काम करना चाहते हैं, आपको अलग से माइक कनेक्ट करना होगा, फिर आप इसे अपने काम के अनुसार चुन सकते हैं।

इसके अलावा आपको एक यूएसबी पोर्ट मिलता है या एक एचडीएमआई पोर्ट भी मिलता है।

लैपटॉप का निर्माण एक औसत निर्माण है। इन सभी लैपटॉप में उपलब्ध बेहतरीन बिल्ड Lenovo में नहीं मिलता है। उसके बाद Asus और फिर MSI, Acer, HP जैसे लैपटॉप का निर्माण आता है।

लेकिन एमएसआई के पास जो थर्मल हैं, वे आसुस से थोड़े बेहतर होंगे। यहां कूलिंग सही हो जाती है।

Price 

बाकी कीमत की बात करें तो यह लैपटॉप 51,990 रुपये का है जो थोड़ा महंगा है लेकिन एक हजार रुपये अतिरिक्त जोड़ने पर आपको 11वीं पीढ़ी का प्रोसेसर मिलता है! अब यह आपकी “Best Gaming Laptop” पसंद पर निर्भर करता है।

निष्कर्ष 

सभी पांच लैपटॉप अपने-अपने मूल्य निर्धारण में सर्वश्रेष्ठ हैं। अगर मैं निष्कर्ष की बात करूं तो अगर आपके पास ₹50,000 हैं और आप ऐसी स्थिति में हैं जहां 1000 या ₹2,000 की व्यवस्था मुश्किल से ही की जा सकती है, वो भी किसी से उधार लेकर। इसलिए आपको ज्यादा महंगा लैपटॉप खरीदने की जरूरत नहीं है।

ASUS Tuf Gaming F15 के साथ आपका काम अच्छे से कर सकते हैं इसे ले लीजिए या आप Acer Aspire 7 के लिए सोच सकते हैं।

ऐसे में आपके पास पैसे बढ़ाने के लिए बिल्कुल भी बजट नहीं है और आप ₹50,500 तक का निवेश कर सकते हैं तो आप Acer Aspire 7 ले सकते हैं। लेकिन अगर आप 3000 रुपये तक निवेश कर सकते हैं तो Asus Tuf Gaming and Lenovo Ideapad Gaming 3 दोनों ही बेहतरीन विकल्प हैं।

अंत में, MSI गेमिंग GF63 Thin और यह लैपटॉप उनके लिए है जो 11वीं पीढ़ी का लैपटॉप खरीदना चाहते हैं। लेकिन उनका बजट कम है, वे इसे ले सकते हैं।

तो दोस्तों आपको अपने बजट के अनुसार कौन सा लैपटॉप सही लगा कमेंट करके बताएं और अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें।

दूध का व्यापार कैसे शुरू करें? | Milk Dairy Business Plan in Hindi

फ़ायरवॉल क्या है? Firewall kya hai? जाने आसान भाषा में?

फ़ायरवॉल क्या है? Firewall kya hai? जाने आसान भाषा में?

Diwali Puja 2022 – घर पर दीपावली पूजा की विधि, शुभ मुहूर्त और आवश्यक सामग्री

0

Diwali Puja 2022 – घर पर दीपावली पूजा की विधि, शुभ मुहूर्त और आवश्यक सामग्री

धनतेरस से भैया दूज तक पांच दिनों तक मनाई जाने वाली दिवाली पूजा 2022 (Diwali Puja 2022) एक महत्वपूर्ण त्योहार है। लक्ष्मी पूजा, या दिवाली पूजा 2022 (Diwali Puja 2022) पूजा, शुभ दिन पर हर भारतीय घर में किए जाने वाले महत्वपूर्ण त्योहार में से एक है। यह मुख्यतः शाम को देवी लक्ष्मी का आशीर्वाद पाने के लिए किया जाता है। लक्ष्मी को धन की देवी के रूप में पूजा जाता है। इसलिए पूजा अत्यंत प्रसन्नता और भक्ति के साथ की जाती है। देवी लोगों के जीवन में समृद्धि, धन और शांति भी लाती हैं।

यह त्योहार पूरे भारत में बहुत खुशी तथा उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस दिन लोग एक साथ इकट्ठे होते हैं, खाते हैं व जश्न मनाते हैं। बुराई पर अच्छाई और अंधेरे पर प्रकाश की जीत के प्रतीक के रूप में पूरे घर में तेल के दीपक जलाए जाते हैं। दिवाली पूजा 2022 (Diwali Puja 2022) और लक्ष्मी पूजा इस साल 24 अक्टूबर को मनाई जाएगी। अगर आप नहीं जानते कि घर पर दीपावली पूजा 2022 (Diwali Puja 2022) पूजा कैसे करें या दिवाली पूजा की सामग्री (Diwali Puja Samagri) क्या है, तो आगे पढ़ें।

दिवाली पूजा विधि (Diwali Puja Vidhi)

दीपावली पूजा 2022 (Deepawali Puja 2022) में भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती है। पुराणों में ऐसा कहा गया है कि देवी लक्ष्मी इस दिन पृथ्वी पर हर घर में आती हैं। इसलिए, देवी को प्रसन्न करने और उनका आशीर्वाद पाने के लिए इस दिन घर की सफाई तथा लाइट की व्यवस्था करना आवश्यक है। दिवाली पूजा 2022 (Diwali Puja 2022) के समय, निम्नलिखित अनुष्ठानों को ध्यान में रखा जाना चाहिए:

दिवाली पूजा 2022 (Diwali Puja 2022)

दिवाली पूजा 2022 पर साफ-सफाई जरूरी है, खासकर अगर आप दिवाली पूजा करते हैं। आपको अपने घर को अच्छी तरह से साफ करना चाहिए और गंगाजल (गंगा नदी का पवित्र जल) छिड़कना चाहिए। आप घर को मिट्टी के दीयों, मोमबत्तियों और रंगोली से भी सजा सकते हैं।

(Diwali Puja 2022)

  1. अपनी पूजा या लिविंग रुम में टेबल या स्टूल पर लाल सूती कपड़ा बिछाएं। बीच में कुछ दाने रखें।
  2. चांदी या कांसे का 75% पानी से भरा कलश दानों के बीच में रखें। कलश में सुपारी, गेंदा का फूल, एक सिक्का और कुछ चावल के दाने डालें। कलश पर पांच आम के पत्ते एक घेरे में रखें।
  3. कलश के दाहिनी ओर दक्षिण-पश्चिम दिशा में भगवान गणेश की मूर्ति या फोटो तथा बीच में देवी लक्ष्मी की मूर्ति या तस्वीर रखें।
  4. एक छोटी प्लेट पर चावल का एक छोटा सा चपटा आकार बनाएं, उस पर हल्दी वाला कमल का फूल डिजाइन करें, कुछ पैसे डालें और मूर्ति के सामने रखें।
  5. अपनी धन और बिजनेस से संबंधित अन्य सभी वस्तुओं को मूर्ति के सामने रखें।
  6. तिलक लगाएं, फूल चढ़ाएं और मूर्तियों के सामने दीपक जलाएं।
  7. पूजा करने से पहले अपनी हथेली में फूल लें और आंखें बंद करके मंत्र का जाप करें।
  8. आपको दीवाली पूजा 2022 (Diwali Puja 2022) पूजा मंत्र का जाप हाथ जोड़कर प्रार्थना की मुद्रा में करना चाहिए। पूजा करने के बाद हाथ में फूल लेकर गणेश और लक्ष्मी को अर्पित करें।
  9. लक्ष्मी जी की मूर्ति ले लें फिर उसे स्नान के रूप में पंचामृत अर्पित करें। इसके बाद गंगा जल से धो लें, फिर इसे एक साफ़ वस्त्र (कपड़ा) से साफ करें और कलश के साथ वापस रख दें।
  10. लक्ष्मी देवी जी को अन्न (भोजन), कुमकुम और हल्दी चढ़ाएं, इसके साथ ही एक माला भी चढ़ाएं। मूर्ति के सामने अगरबत्ती य धूप जलाएं।
  11. देवी को नारियल, सुपारी और पान का पत्ता चढ़ाएं। देवी को फल और प्रसाद चढ़ाएं और मूर्ति के सामने गुलदस्ता और कुछ पैसे रखें।
  12. लक्ष्मी जी की आरती करें, थाली में दीपक लेकर आराधना की घंटी बजाएं। अब भोजन, मिठाई और प्रसाद बांटें और दान करें।

दिवाली 2022 तारीख: दिवाली कब है? जानिए दीपावली के शुभ पांच दिनों के बारे में

दिवाली पूजा की सामग्री (Diwali Puja Samagri)

पूजा सामग्री किसी भी पूजा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि हर वस्तु, या सामग्री में कोई न कोई दिव्य ऊर्जा होती है। सही दिवाली पूजा की सामग्री (Diwali Puja Samagri) से पूजा विधि को करने से जीवन से सभी बाधाएं समाप्त हो जाती हैं। इससे आपको अपने लक्ष्य को पाने में भी मदद मिलती है। और इन सब के अलावा अलावा, वेदों के अनुसार धनतेरस या दिवाली फिर दिवाली पूजा 2022 (Diwali Puja 2022) करने से समृद्धि, धन, लक्ष्य की प्राप्ति और सभी प्रयासों में सफलता मिलती है।

आपकी पूजा को और भी आसान बनाने के लिए हम यहां पर दिवाली पूजा की सामग्री (Diwali Puja Samagri) के पूरी लिस्ट के बारे में जानकारी दी है।

पूरी लिस्ट:-

  1. एक लकड़ी या धातु का तख्ता/चौकी
  2. तख्त/चौकी को ढकने के लिए आप एक नया लाल या पीला कपड़ा कपड़े इस्तेमाल कर सकते हैं।
  3. देवी लक्ष्मी जी, सरस्वती जी और भगवान गणेश जी की मूर्तियाँ या फिर फोटो
  4. कुमकुम
  5. चंदन
  6. हल्दी
  7. रोली
  8. अक्षत
  9. पान का पत्ता और अखरोट
  10. साबुत नारियल भूसी के साथ
  11. अगरबत्ती
  12. दीपक के लिए घी
  13. पीतल या मिट्टी का दीपक
  14. कपास की बत्ती
  15. पंचामृत
  16. गंगाजल
  17. फूल
  18. फल
  19. कलश
  20. पानी
  21. आम के पत्ते
  22. कपूर
  23. कलाव
  24. साबुत गेहूं के दाने
  25. दूर्वा घास
  26. जनेउ
  27. धूप
  28. झाड़ू
  29. पैसा (नोट और सिक्का)
  30. धातु की घंटी और आरती थाली

दिवाली पूजा की सामग्री को कैसे तैयार करें? (Diwali Puja Samagri)

उक्त सामग्री में से कुछ को नीचे दिए गए अनुसार तैयार करना होता है। आप में से कुछ लोग कुछ शब्दों से परिचित नहीं होंगे इसलिए इनको नीचे समझाया गया है।

अक्षत:

अक्षत के दो प्रकार – मुख्यतः सफेद व लाल होते हैं जो देवताओं को चढ़ाए जाते हैं। सफेद अक्षत सफेद चावल को कहते हैं, जो भगवान सत्यनारायण और भगवान शिव को अर्पित किया जाता है। लाल अक्षत देवी लक्ष्मी, दुर्गा, भगवान गणपति और अन्य जैसे देवताओं को चढ़ाया जाता है। इन्हें आप चावल को सिंदूर या कुमकुम के साथ मिलाकर बना सकते हैं।

पंचामृत:

हिंदू परंपरा में, पंचामृत को विभिन्न पवित्र आयोजनों में देवताओं को चढ़ाए जाने वाला अमृत माना जाता है। संस्कृत में, पंच का अर्थ है पांच और अमृत का अर्थ है शहद। घी, चीनी, शहद, दूध और दही जैसे पांच अमृत का इस्तेमाल करके पंचामृत बनाया जाता है। इसमें से हर एक का कुछ महत्व है। शहद एकता का प्रतीक है, दही ताकत देता है, चीनी मिठास देती है, घी शरीर को पोषण देता है और दूध पवित्रता देता है।

  • एक कटोरी दूध लें
  • इसमें चीनी और घी डालें फेंटा हुआ दही डालें
  • शहद डालें
  • चीनी घुलने तक अच्छी तरह मिलाएँ
कलावा :

कलावा कपास से बना लाल और पीला धागा होता है, जो हमें बाजार में आसानी से मिल जाता है। इसका उपयोग हर पूजा में किया जाता है क्योंकि इसे शुभ माना जाता है। यह धागा हर पूजा में इस्तेमाल होता तथा इसे भगवान को चढ़ाने वाले कपड़े के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। कलाई के चारों ओर बांधे जाने पर यह हृदय रोगों, रक्तचाप, मधुमेह और पक्षाघात जैसी समस्याओं से सुरक्षा प्रदान करता है।

दूर्वा घास:

अगर आपके यहां हरी घास वाला लॉन है तो आप वहां से दूर्वा घास तोड़ सकते हैं। दूर्वा घास ताजी हरी घास है जिसमें कोमल हरे अंकुर होते हैं। दुर्वा पूजा के दौरान कुछ देवी-देवताओं को भेंट की जाने वाली एक महत्वपूर्ण भेंट है। दुर्वा के नाजुक पत्तियों पर मौजूद ओस की बूंदों में देवताओं के दैवीय सिद्धांतों को अवशोषित करते हैं।

जनेऊ :

जनेऊ सफेद रंग के धागे का होता है जो विभिन्न धागों से बना होता है। प्रत्येक हिंदू ब्राह्मण इस पवित्र धागे को पहनता है क्योंकि यह स्वच्छता में सुधार करता है, दीर्घायु प्रदान करता है। इसका उपयोग हर पूजा विधि में प्रसाद के रूप में किया जाता है। 3 धागे लक्ष्मी, सरस्वती और काली तीन देवी-देवताओं का प्रतिनिधित्व करते हैं जबकि अन्य ब्रह्मा, विष्णु और महेश का प्रतिनिधित्व करते हैं।

दिवाली पूजा 2022 कैसे करते हैं। (Diwali Puja 2022)

यदि आपके पास समय की कमी है, तो यहां बताया गया है कि आप अपने घर पर दीपावली पूजा 2022 (Diwali Puja 2022) कैसे कर सकते हैं।

  • घर की सफाई के बाद घर की उत्तर-पूर्व या उत्तर दिशा में स्वस्तिक का चिन्ह बनाएं और
  • उसमें चावल का बर्तन रखें।
  • अब देवी लक्ष्मी की तस्वीर या मूर्ति रखें जिसमें गणेश जी और सरस्वती को भी लाल कपड़े से
  • ढकी लकड़ी की थाली पर रखा जाए।
  • मूर्तियों या प्रतिमाओं को जल छिड़क कर शुद्ध करें।
  • कुश आसन पर बैठे भगवान गणेश, देवी लक्ष्मी और कुबेर जी को अक्षत, वस्त्र, दक्षिणा,
  • आभूषण, सुगंध, धूप, फूल चढ़ाएं।
  • प्रत्येक देवता के सिर को रोली, चावल और हल्दी से सजाएं।
  • भक्ति के साथ भोग या प्रसाद चढ़ाएं और खड़े होकर आरती करें
  • आरती पूरी करने के बाद उस पर जल छिड़कें।
  • पूजा के बाद घर के मुख्य द्वार और आंगन को दीयों या मोमबत्तियों से रोशन करें।

दिवाली 2022 पूजा के लिए शुभ मुहूर्त (Diwali Puja Muhurat)

हिंदू पंचांग के अनुसार चतुर्दशी तिथि 24 अक्टूबर को शाम 5:28 बजे समाप्त होगी और उसी दिन अमावस्या तिथि शुरू होकर 4:19 बजे तक चलेगी।

लक्ष्मी पूजा 24 अक्टूबर को होगी और मुहूर्त शाम 6.54 बजे से 8:18 बजे तक 1 घंटे 24 मिनट तक ही रहेगा।

दिवाली पूजा 2022 के कुछ महत्वपूर्ण बातें (Diwali Puja 2022)

(Diwali Puja 2022) दिवाली पूजा 2022 भारत के सबसे बड़े और सबसे महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है

जिसे बड़े उत्साह तथा खुशी के साथ मनाया जाता है।

इसमें कई मिठाइयाँ और समारोह की तैयारी की जाती है।

Diwali Puja 2022 (दिवाली पूजा 2022) हर घर का मुख्य त्योहार है।

इस दिन परिवार के सभी लोग देवी लक्ष्मी, सरस्वती और भगवान गणेश की पूजा करने के लिए साथ आते हैं।

इस पूजा से जीवन में सौभाग्य, समृद्धि और खुशी आती है।

इसलिए, दीपावली पूजा विधि (Diwali Puja Vidhi) का पालन सही से करें
और दिवाली पूजा की सामग्री का सही जानने के बाद ही पूजा करें

Battlegrounds Mobile India Download कैसे करें, जानें तरीका

PUBG Mobile Lite Download New Update 2022 Apk | PUBG Lite Download

दिवाली 2022 तारीख: दिवाली कब है? जानिए दीपावली के शुभ पांच दिनों के बारे में

0

दिवाली 2022 तारीख: दिवाली कब है? जानिए दीपावली के शुभ पांच दिनों के बारे में

दिवाली 2022 तिथियां: इस वर्ष, दीवाली सोमवार, 24 अक्टूबर को पड़ रही है। इस शुभ हिंदू त्योहार का उत्सव पांच दिनों तक चलता है। सभी विवरण जानने के लिए पढ़ें।

दीपावली का सबसे महत्वपूर्ण और पवित्र त्योहार, जिसे दीपावली के नाम से भी जाना जाता है, लगभग यहाँ है। अंधेरे पर प्रकाश की जीत, अज्ञान पर ज्ञान, बुराई पर अच्छाई और निराशा पर आशा की जीत का जश्न मनाने के लिए हिंदू इस शुभ त्योहार को मनाते हैं। दिवाली भी भगवान कृष्ण द्वारा नरकासुर जैसे कई राक्षसों की मृत्यु, रावण को मारने के बाद भगवान राम के अयोध्या आगमन और भगवान वामन द्वारा बाली को हराने का प्रतीक है। लोग दिवाली पर अपने घरों और कार्यालयों में शुभ लक्ष्मी पूजा करके देवी लक्ष्मी से प्रार्थना करते हैं और देवी से उन्हें समृद्धि, सुख, शांति और धन का आशीर्वाद देने के लिए कहते हैं। देश में ज्यादातर जगहों पर दिवाली पांच दिनों तक मनाई जाती है। उत्सव की अवधि धनतेरस से शुरू होती है और भैया दूज पर समाप्त होती है। हालांकि, द्रिक पंचांग के अनुसार, महाराष्ट्र में दिवाली एक दिन पहले गोवत्स द्वादशी को शुरू होती है।

Battlegrounds Mobile India Download कैसे करें, जानें तरीका

दिवाली कब है?

इस साल दिवाली या दीपावली 24 अक्टूबर सोमवार को मनाई जाएगी। ड्रिक पंचांग के अनुसार लक्ष्मी पूजा मुहूर्त शाम 06:53 बजे से शुरू होकर 08:16 बजे समाप्त होगा। इसके साथ ही साथ प्रदोष काल भी शाम 05:43 बजे से 08:16 बजे तक रहेगा और अमावस्या 24 अक्टूबर को शाम 05:27 बजे से 25 अक्टूबर की शाम 04:18 बजे तक लगा रहेगा। 

दीपावली के पांच शुभ दिन

Govatsa Dwadashi (October 21)

महाराष्ट्र में, दिवाली समारोह गोवत्स द्वादशी से शुरू होता है और धनतेरस से एक दिन पहले मनाया जाता है। इस साल यह शुक्रवार 21 अक्टूबर को पड़ रहा है। इस दिन हिंदू गाय और बछड़ों की पूजा करते हैं और उन्हें गेहूं के उत्पाद चढ़ाते हैं। इस दिन को नंदिनी व्रत के नाम से भी जाना जाता है।

Dhanteras (October 22)

धनतेरस पूजा 22 अक्टूबर दिन शनिवार को चिह्नित की गयी है। धनतेरस को धनत्रयोदशी के रूप में भी मनाया जाता है (या कहें की लोग इस नाम से भी जानते हैं ) धनतेरस दिवाली त्यौहार उत्सव की शुरुआत का प्रतीक भी जाना जाता है। इस शुभ दिन पर देवी लक्ष्मी और धन के देवता भगवान कुबेर की पूजा की जाती है।

काली चौदस (23 अक्टूबर)

काली चौदस 23 अक्टूबर दिन रविवार को मनाया जाएगा। लोग इसे भूत चतुर्दशी के रूप में भी जानते हैं और मुख्य रूप से चतुर्दशी तिथि के इस त्यौहार को गुजरात में मनाया जाता है।

Chhoti Diwali and Badi Diwali (October 24)

इस साल, छोटी और बड़ी दिवाली 24 अक्टूबर को पड़ रही है। इस दिन, लोग देवी लक्ष्मी की पूजा करके, अंधेरे पर प्रकाश की जीत को चिह्नित करने के लिए अपने घरों को दीयों से रोशन करके, नए कपड़े पहनकर और मिठाई, सूखे मेवे बांटकर त्योहार मनाएंगे। और अपनों और जरूरतमंदों के बीच उपहार।

Govardhan Puja (October 25)

दिवाली उत्सव गोवर्धन पूजा के साथ समाप्त होता है, जिसे अन्नकूट पूजा के रूप में भी जाना जाता है, जो इस साल 25 अक्टूबर को पड़ता है। इस दिन, भगवान कृष्ण ने भगवान इंद्र को हराया था। उत्सव कार्तिक माह की प्रतिपदा तिथि के दौरान शुरू होता है।

Diwali 2022 • Diwali Dates & Shubh Muhurat Timing

दीवाली (हिंदी: दिवाली, तमिल: தீபாவளி, तेलुगु: , मलयालम: दिपास, गुजराती: दीवाली), रोशनी का त्योहार भारत का सबसे प्रतीक्षित और सबसे चमकीला है, जो अक्टूबर के अंत से नवंबर के मध्य से नवंबर के मध्य से नवंबर के मध्य तक है। नवंबर से मध्य नवंबर से मध्य नहीं।

दिवाली 2022 24 अक्टूबर सोमवार को है

कार्तिक अमावस्या तिथि का समय: 24 अक्टूबर, शाम 5:27 बजे – 25 अक्टूबर, शाम 4:18 बजे

Pradosh puja time ( प्रदोष पूजा का समय )  : October 24, 5:50 pm – October 24, 8:22 pm (24 अक्टूबर, शाम 5:50 बजे – 24 अक्टूबर, रात 8:22 बजे)

कब है दिवाली 2022?

2022 दिवाली उत्सव 23 अक्टूबर 2022 रविवार को धनतेरस से शुरू होकर 27 अक्टूबर 2022 गुरुवार को भाई दूज के साथ समाप्त होगा। दिवाली के त्योहार के दिनों में सबसे शुभ लक्ष्मी पूजा , दिवाली के दिन के रूप में मनाई जाती है। इसलिए, दिवाली 2022 24 अक्टूबर सोमवार को पड़ रही है ।

2022 में उत्तर भारत दिवाली मनाएगा और दक्षिण भारत उसी दिन दिवाली मनाएगा।

उत्तर भारत में, दिवाली पांच दिनों तक चलने वाला उत्सव है जो भारतीय महीने कार्तिक के कृष्ण पक्ष के 13 वें चंद्र दिवस पर धनतेरस से शुरू होता है। यह भाई दूज के उत्सव के साथ समाप्त होता है जो भारतीय महीने कार्तिक के शुक्ल पक्ष के 17 वें चंद्र दिवस पर पड़ता है। दोनों को पुरीमनाता कैलेंडर से लिया गया है।

दिवाली कैलेंडर 2022 – दिवाली के 5 दिन 2022

पहला दिन Dhanteras 23 अक्टूबर, रविवार
दूसरा दिन Naraka Chaturdasi (Chotti Diwali) 24 अक्टूबर, सोमवार
तीसरा दिन Lakshmi Puja (Diwali Festival) 24 अक्टूबर, सोमवार
दिन 4 Govardhan Puja 26 अक्टूबर, बुधवार
दिन 5 Bhai Dooj 27 अक्टूबर, गुरुवार

 

दिवाली हमारे घरों और दिलों को रोशन करती है और दोस्ती और एकजुटता का संदेश देती है। प्रकाश आशा, सफलता, ज्ञान और भाग्य का चित्रण है और दिवाली जीवन के इन गुणों में हमारे विश्वास को मजबूत करती है।

दिवाली 2022 शुभ मुहूर्त और अमावस्या तिथि का समय

सूर्योदय 24 अक्टूबर, 2022 06:31 पूर्वाह्न।

(October 24, 2022 06:31 AM.)

सूर्यास्त 24 अक्टूबर, 2022 शाम 05:50 बजे।

(October 24, 2022 at 05:50 pm)

अमावस्या तिथि प्रारंभ 24 अक्टूबर, 2022 05:27 अपराह्न। 

(October 24, 2022 05:27 PM.)

अमावस्या तिथि समाप्त 25 अक्टूबर, 2022 04:18 अपराह्न।

(October 25, 2022 04:18 PM.)

प्रदोष पूजा का समय 24 अक्टूबर, 05:50 अपराह्न – 24 अक्टूबर, 08:22 अपराह्न 

(October 24, 05:50 PM – October 24, 08:22 PM)

 

दिवाली के पीछे की कहानी

दिवाली हर उस चीज से मिलती-जुलती है जो ‘अच्छा’ है, इसलिए यह त्योहार कई पौराणिक कथाओं का केंद्र रहा है।

लंका के दस सिर वाले राक्षस राजा रावण पर विजय प्राप्त करने के बाद भगवान राम इस दिन सीता और लक्ष्मण के साथ अयोध्या लौटे थे। इस अवसर पर, स्थानीय लोगों ने अपने राजा और रानी का वापस सिंहासन पर स्वागत करने के लिए मिट्टी के दीये जलाए और पटाखे फोड़ दिए।

इस दिन को स्वर्ग में देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु के मिलन के रूप में भी मनाया जाता है।

बंगाल में, इस दिन को ‘शक्ति’ की सबसे शक्तिशाली देवी – देवी काली की पूजा के लिए मनाया जाता है।

जैन संस्कृति में, इस दिन का बहुत ही ज्यादा महत्व है क्योंकि बताया जाता है इस दिन महावीर ने अपना अंतिम ‘निर्वाण’ प्राप्त किया था।

प्राचीन भारत में, इस दिन को फसल उत्सव के रूप में भी मनाते हैं 

दिवाली आर्य समाज के ‘नायक’ दयानंद सरस्वती की पुण्यतिथि भी है।

दीपावली की रस्में

दिवाली पूरे भारत में विभिन्न रूपों में मनाई जाती है और इस प्रकार यह एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय अवकाश भी है।

दिवाली धनतेरस से शुरू होती है एक नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत, दूसरे दिन नरक चतुर्दशी है, जिस दिन भगवान कृष्ण ने राक्षस नरकासुर का वध किया था; तीसरे दिन अमावस्या है , जिस दिन धन और भाग्य की देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती है।

इसका चौथा दिन पर गोवर्धन पूजा की जाते हैं और अंतिम दिन को भाई दूज के रूप में मनाया जाता है , इस दिन बहनें अपने भाइयों की पूजा करती हैं और उनके लंबे जीवन और कल्याण के लिए प्रार्थना करती हैं।

दिवाली के दौरान दावत, जुआ, दोस्तों और परिवारों के बीच उपहारों का आदान-प्रदान और पटाखे फोड़ना बहुत जरूरी है। लोग इस दिन नए कपड़े भी पहनते हैं और देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा करते हैं। यह दिन विशेष लक्ष्मी पूजा के लिए समर्पित है।

दक्षिणी भारत में, दिवाली उनके प्राचीन राजा महाबली के घर आने का प्रतीक है और लोग राजा के स्वागत के लिए अपने घरों को फूलों और गाय के गोबर से सजाते हैं। इस दिन गोवर्धन पूजा की जाती है।

बंगाल और पूर्वी भारत के अन्य हिस्सों में इस दिन देवी काली की पूजा की जाती है। इसे श्यामा पूजा के नाम से जाना जाता है।

महाराष्ट्र में दिवाली की शुरुआत गायों और उनके बछड़ों की पूजा से होती है। इसे वासु बरस के नाम से जाना जाता है।

देश भर में बड़े दिवाली मेले लगते हैं। ये मेले व्यापार के केंद्र हैं और इन आयोजनों में कई कलाकार और कलाबाज प्रदर्शन करते नजर आते हैं।

दिवाली त्योहार 2019 और 2029 के बीच की तारीखें

साल दिनांक
2019 रविवार, 27 अक्टूबर
2020 शनिवार, 14 नवंबर
2021 गुरुवार, 4 नवंबर
2022 सोमवार, 24 अक्टूबर
2023 रविवार, 12 नवंबर
2024 शुक्रवार, 1 नवंबर
2025 मंगलवार, 21 अक्टूबर
2026 रविवार, 8 नवंबर
2027 शुक्रवार, 29 अक्टूबर
2028 मंगलवार, 17 अक्टूबर
2029 सोमवार, 5 नवंबर

 

PUBG Mobile Lite Download New Update 2022 Apk | PUBG Lite Download

दूध का व्यापार कैसे शुरू करें? | Milk Dairy Business Plan in Hindi

Haryana Steelers Team Ka Malik Kaun Hai – और क्या करते है